300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर

300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर.

आज तक आपने सुना होगा कि जिन बेटियों के ऊपर से माँ बाप का साया उठ जाता है उनका विवाह या तो उनके परिजन करते है या फिर मामा, नाना, चाचा, ताऊ इत्यादि। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे है एक शख्स के बारे में जो ऐसे बेटियो के विवाह कराते है जो अनाथ हो चुकी है।

सूरत के हीरा व्यापारी महेश सवाणी कराते है अतिम हो चुकी बेटियो की शादी

300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर
300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर

सूरत के हीरा व्यापारी महेश सवाणी ऐसी कन्याओं की शादी कराते है जिन कन्याओं के सिर से उनके पिता का साया उठ चुका है।महेश सवाणी हर साल ऐसी शादियों का आयोजन कराते है जो आर्थिक रूप से कमजोर होने के साथ मजबूर है क्योंकि उनके सिर पे उनके बाप का साया नही है।

महेश सवाणी हर साल की तरह इस साल भी 300 से ज्यादा बेटियो के विवाह का आयोजन करा रहे है।

300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर
300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर

महेश सवाणी इस साल भी चुनरी महियर नाम से सामुहिक विवाह कराने जा रहे है। इस समारोह में 300 से ज्यादा लड़कियो का विवाह होना है।
जानकारी के मुताबिक, पीपी सवाणी परिवार द्वारा वर्ष 2008 से अलग-अलग राज्यों जातियों और धर्मों की बेसहारा बेटियों का सामूहिक विवाह कराया जाता है।

इस सामूहिक विवाह का कार्यक्रम अब्रामा में आयोजित होता है। इस बार विवाह का आयोजन दिसंबर के पहले हफ्ते में रखा गया है।

300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर
300 बेसहारा बेटियों के लिए मशीहा बने सूरत के एक हीरा व्यापारी जानिए पूरी खबर

को*रोना काल मे देश की आबादी का काफी बड़ा हिस्सा बहुत प्रभावित हुआ है। हर क्षेत्र में में कोरोना की मार देखने को मिली है।ऐसे में शादी समारोह में सरकार द्वारा गाइडलाइन व कोरोना नियम का सख्त हिदायतों के साथ ख्याल रखने को कहा गया है। अगर ऐसा सम्भव नही हो पाता है तो महेश सवाणी का कहना है वो शादी ऐसे जगह कराएँगे जहां भीड़भाड़ वाले इलाका न हो।
ये समारोह किसी भी तरह से रणनीति से जुड़ा हुआ नही है। लेकिन फिर भी इस समारोह में सभी राजनीतिक पार्टियों को बुलाया जाता है।
*बेटियों को भावुक करने वाला होता है ये लम्हा*

पीपी सवाणी ग्रुप से जुडी हुई रिद्धि पटेल बताती है कि सामुहिक विवाह की तैयारी शुरू हो चुकी है। कुछ दिन पहले हुई बैठक में वो सभी कन्याएं शामिल थी जिनकी इस समारोह में शादी होनी है। इस बैठक में ये सभी कन्याएं अपने माता पिता का जिक्र करते हुए रो पड़ी। ये सब देखकर इस बैठक में मौजूद सभी लोगो की आँखे भी नम हो गई थी।
रिद्धि ने बताया की संस्था की पुर जोर कोशिस रहती है की इन सभी कन्याओं को किसी तरह की कोई कमी महसूस न हो।

About the Author: goanworld11

Indian blogger

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.