विदाई के समय टूटी शादी, दूल्हा दुल्हन के परिजनो ने एक दूसरे से हाथ जोड़कर मांगी क्षमा

विदाई के समय टूटी शादी, दूल्हा दुल्हन के परिजनो ने एक दूसरे से हाथ जोड़कर मांगी क्षमा

कोई भी पिता अपनी बेटी की शादी धूमधाम से करना चाहता है। वह सोचता है मेरी बेटी ससुराल जाकर खुश रहे इसलिये भी वह बेटी की शादी में कोई कसर नही छोड़ना चाहता। एक बाप अपनी बेटी की शादी में अपनी जिंदगी में कमाई गई सारी जमा पूंजी लगा देता है।बावजूद इसके लड़को वालों के ये सब कम ही लगता है।

विदाई के समय टूटी शादी, दूल्हा दुल्हन के परिजनो ने एक दूसरे से हाथ जोड़कर मांगी क्षमा
विदाई के समय टूटी शादी, दूल्हा दुल्हन के परिजनो ने एक दूसरे से हाथ जोड़कर मांगी क्षमा

समाज मे बुराई न हो इसलिए भी अच्छे खानदान की बेटियां ये सब जुल्म हसते हसते सहन कर लेती है। आज हम आपको एक ऐसे मामले के बारे में बताएंगे जहां एक दुल्हन ने अपनी बोलती से लड़के वालों का मुँह बन्द कर दिया । मामला ग्वालियर का बताया जा रहा है यहां शिवानी की शादी थी शादी की सभी रश्में लगभग पूरी हो चुकी थी। लेकिन शिवानी को जब लगा कि उनकी शादी में हद से ज्यादा देहज मांगा जा रहा है। तब विदाई से ठीक पहले शिवानी ने शादी करने से इंकार कर दिया।

पूरा मामला मध्यप्रदेश के दतिया जिले का बताया जा रहा है।यहां शनिवार को एक ऐसी घटना देखने को मिली जिसने सबको हैरान कर दिया। यहां एक दुल्हन जिसका नाम शिवानी बताया जा रहा है विदाई से ठीक पहले शादी करने से साफ इंकार कर दिया। बारातियों को बिना दुल्हन के ही लौटना पड़ा। इस बीच लड़के पक्ष वालो ने जमकर हंगामा किया जिसकी भनक पुलिस को लग गई। पुलिस मामले को शांत करवाया। मामला जीवाजी क्लब के गेट-1 का है। यहां पर ज्वेलर्स द्वारिका प्रसाद अग्रवाल को बेटी शिवांगी की शादी , फालका बाजार निवासी सुरेश अग्रवाल के बेटे प्रतीक से होनी थी। प्रतीक ने बीकॉम से स्नातक की हुई है। और प्रतीक एक सेनेट्री की दुकान भी चलाता है। वही शिवांगी ने भी MBA की हुई है वह जॉब करती है।

विदाई के समय टूटी शादी, दूल्हा दुल्हन के परिजनो ने एक दूसरे से हाथ जोड़कर मांगी क्षमा
विदाई के समय टूटी शादी, दूल्हा दुल्हन के परिजनो ने एक दूसरे से हाथ जोड़कर मांगी क्षमा

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को जब बारात आयी थी। बारात विदाई होने समय लड़के के बाप सुरेश ने दहेज में मिले जेवर और समान देखने की बात कह दी। और ये बात शिवांगी को बर्दाश्त नही हुई। और इसी बात पर बारात को वापस ले जाने की बड़ी बात कह डाली। इसके साथ ही शिवांगी ने ये भी कहा कि वर पक्ष की ओर से धन मांगने की बात भी हो रही थी मेरे घर मे मेरे पापा के अलावा कोई भी कमाने वाला नही है अगर मेरा कोई भाई भी होता तो मैं ये सब चुपचाप सह लेती। मेरी माँ डायबिटीज की मरीज है उनकी दवाई में हमारा बहुत पैसा खर्च हुआ है अब भी उनकी दवाई चल रही है परिवार में पापा ही कमाने वाले एक मात्र सदस्य है। मैं कभी भी अपने माँ बाप से दूर नही होना चाहती थी। इसलिए मैंने पास के ही गांव में शादी की। अब तक इस रिश्ते में मैंने कई बातें चुपचाप सहन की जिसका जिक्र मैं सबके सामने भी नही कर सकती, लेकिन इन्होंने हर बार नीचता की सीमा लांघी और आज शादी के दिन तो इन्होंने हद ही करदी जो मैं सहन नही कर सकी इसलिए मैं ये शादी किसी भी हालत में नही करूंगी”

शिवांगी ने आगे ये भी बताया रिश्ते के बाद से प्रतीक ने कई बार फोन पे मेरे बात करते हुए बोला है कि वह मेरी सैलरी भी रखेंगे तब भी मैंने उनको कुछ नही बोला।और लड़के वालों ने शादी के बाद बड़ी कार लेने की बात भी कही थी।मैं फेरो तक ये सब सहती रही लेकिन मुझे ये नही अंदाजा था कि ये लोग इतने लालची और गिरे हुए होंगे।

About the Author: goanworld11

Indian blogger

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.