बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल…

दोस्तों हमने खबरों में अक्सर सास बहू के झगड़े के बारे में तो कई बार सुना होगा। लेकिन कई बार ऐसे भी कुछ मामले देखने को मिलते हैं जिनमें सास और बहू के रिश्ते की अनोखी मिसाल पेश की जा सकती है। ऐसा ही एक मामला राजस्थान के फतेहपुर शेखावटी से सामने आया है। एक सास ने अपने बेटे की मौत के बाद उसकी विधवा पत्नी को बेटी की तरह पाला और पढ़ाया लिखाया। पढ़ी लिखी बहू का चयन लेक्चरर के लिए हुआ और कुछ समय बाद सास ने अपनी बहू की दूसरी शादी करवा दी। ऐसे मामले बहुत कम देखने को मिलते हैं जहां पर कोई सास अपनी बहू के लिए इतनी ज्यादा केयर करें।

बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल...
बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल…

किस प्रकार हुई थी कमला देवी के बेटे से शादी

जानकारी के अनुसार राजस्थान के फतेहपुर शेखावाटी में रहने वाली कमला देवी एक सरकारी स्कूल में टीचर की नौकरी करती है। कमला देवी के दो बेटे थे जिनमें बड़े बेटे का नाम रजत और छोटे बेटे का नाम शुभम है। कमला देवी के छोटे बेटे शुभम में किसी शादी समारोह में सुनीता नाम की एक लड़की को देखा था और उसे सुनीता काफी पसंद आई थी। शुभम ने सुनीता के बारे में अपने घर पर बताया तो घर वालों ने शुभम की बात मानकर सुनीता के घरवालों से बातचीत की और दोनों परिवारों की आपसी सहमति से शुभम और सुनीता की धूमधाम से शादी कराई गई। शुभम और सुनीता की शादी मई 2016 में हुई थी।

बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल...
बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल…

ब्रेन स्ट्रोक से हुई थी कमला देवी के बेटे की मौत

शादी के कुछ महीने बाद नवंबर 2016 में शुभम अपनी एमबीबीएस की पढ़ाई करने के लिए किर्गिस्तान चला गया। सब कुछ ठीक ही चल रहा था लेकिन अचानक कुछ ऐसा हुआ कि सुनीता की जिंदगी में भूचाल आ गया। शुभम की ब्रेन स्ट्रोक से दुर्भाग्यपूर्ण मौत हो गई। शुभम की मौत से सुनीता का मन पूरी तरह से झकझोर उठा था। इसके साथ ही कमलादेवी भी काफी सदमे में आ चुकी थी। लेकिन शुभम की मौत के बाद कमला देवी ने सुनीता को अपनी बेटी का दर्जा दिया और उसे आगे की पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया। कमला देवी ने सुनीता को m.a. B.Ed करवाया और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी करने को कहा।

बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल...
बेटे की मौत के बाद सास ने बहू को पढ़ाया, लेक्चरर बनाया और करवा दी दूसरी शादी, अनोखी मिसाल…

बहू की करवा दी दूसरे से शादी

सुनीता ने भी अपने साथ की उम्मीदों पर खरा उतरने का हर संभव प्रयास किया और मेहनत लगन से ए वन ग्रेड पर आकर लेक्चरर की परीक्षा पास कर ली। पिछले साल ही सुनीता का चयन हिस्ट्री के लेक्चरर पद पर हुआ। इसके बाद अब कमला देवी ने अपनी बहू सुनीता की शादी मुकेश नाम के युवक से करवा दी। कमला देवी ने बताया कि सुनीता एक बहुत ही अच्छी लड़की है। उसने पहले उसके माता-पिता के घर को खुशियों से भरा और जब वह हमारे घर शादी करके बहू बन के आई तो हमारा घर भी खुशियों से भर गया। कमला देवी ने बताया कि अब वह शादी करके मुकेश के घर जा रही है तो उसके घर को भी वह खुशियों से भर देगी।

About the Author: Rani Patil

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.