पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.

पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.

जनसंख्या के हिसाब से दुनियां में चीन के बाद भारत का दूसरा स्थान है। भारत मे आपको अमीर से लेकर गरीब वर्ग के लोग देखने को मिल जायेंगे। शिक्षा जगत हो या टेक्नोलॉजी जगत हर विभाग में भारत भले ही तेजी से आगे बढ़ रहा हो। लेकिन इस देश मे आज भी 6 करोड़ से ज्यादा लोगो के सिर के ऊपर छत नही है।

पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.
पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.

इस भयावह स्तिथि में भारत की बड़ी आबादी का हिस्सा आज के दौर में सड़क किनारे, फ्लाईओवर के नीचे व स्टेशन और कई रोडवेज अड्डो के पास सोकर रात गुजारते करते है।क्योंकि उनके पास शिक्षा का अभाव होने के साथ घर बनाने के लिए पर्याप्त धन नही है।

ऐसे हालातों से निपटने के लिए पेराला मानसा रेड्डी ने विकल्प खोज निकाला है। जिससे गरीब लोगों का घर में रहने का सपना साकार हो सकता है। ये घर एक आम घर की तरह हर मौसम के लिए पर्याप्त है। लेकिन, इस घर मे अंतर सिर्फ इतना है कि, ये घर ईंट की बजाय पाइप से बनाया गया है।

सीवर का पाइप और मजबूत नींव

पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.
पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.

यह बात आपको सुनने में अजीब भले ही लगी हो। कि, क्या सच मे सीवर के पाइप के घर मे नींव रखी जा सकती है? लेकिन इस नामुमकिन से काम को बख़ूबी अंजाम दिया है तेलंगाना के बोम्मकल गाँव से ताल्लुक रखने वाली पेराला मानसा रेड्डी ने। जी हाँ,पेराला मानसा रेड्डी ने इस नामुमकिन से दिखाई देने वाले काम को मुमकिन कर दिखाया है।

23 वर्षीय मानसा ने पंजाब की लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (LPU) से सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री पूरी की, वह अपनी पढ़ाई के साथ-साथ घर बनाने के आसान तरीके भी ढूँढती रहती थी। इस तरह मानसा ने हांगकांग की जैम्स लॉ साइबरटेक्चर (James Law Cybertecture) नामक कंपनी से OPod Tube House बनाने का तरीका सीखा।

इसके बाद मानसा रेड्डी ने पीछे मुड़कर नही देखा,और इस आइडिया के तहत एक सस्ता और टिकाऊ OPod Tube House बनाया, जिसके लिए उन्होंने सीवर पाइप का इस्तेमाल किया। मानसा ने पाइपों को तेलंगाना की एक मैन्युफैक्चरिंग कंपनी से मंगवाया था।

उस कंपनी ने मानसा रेड्डी को हर तरह के छोटे बड़े पाइप उपलब्ध कराए। जिनका उपयोग जरूरतानुसार किया जा सकता है।सीवर पाइप से बने इस गोलाकार घर मे 3 लोग वाला परिवार आसानी से रह सकता है।

इसके अलावा आप इस घर को अपने हिसाब से 1BHK, 2BHK और 3BHK में बड़ी आसानी के साथ तब्दील कर सकते है। इस तरह के घर तैयार करने के लिए बामुश्किल 20 दिनों का समय लगता है।

स्टार्ट किया समनवी कंस्ट्रक्शन (Samnavi Construction) का व्यवसाय

पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.
पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.

मानसा रेड्डी द्वारा रैडी किए जा रहे इन सीवर पाइप वाले OPod Tube घरों को बहुत पसंद किया जा रहा है, इसके साथ ही इन घरों को सोशल मीडिया पर भी अच्छी खासी सराहना मिल रही है।
इन सब चीज़ों को देखकर मानसा ने खुद का व्यवसाय शुरू किया है। अपनी इस कंपनी का नाम मनसा ने समनवी कंस्ट्रक्शन (Samnavi Construction) रखा है। इस स्टार्टअप के जरिये मानसा रेड्डी कम लागत में जरुरतमंद लोगो को घर मुहैया कराना चाहती है।

अस्थायी घरों की समस्याओ का करना चाहती है अंत

मानसा रेड्डी का जन्म तेलंगाना के छोटे से गाँव बोम्मकल में हुआ था, मानसा को अपनी स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के लिए घर से दूर जाना पड़ता था। मानसा ने काफी समय तक तेलंगाना के गरीब तबके और झुग्गी झोपड़ी वाले इलाकों में स्वयंसेविका के रूप में काम किया था, काम करते हुए उन्हें एहसास हुआ कि लोगों के पास रहने के लिए खुद का स्थायी आशियाना भी नही है।

इस समस्या को दूर करने के लिए मानसा ने सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की, ताकि वो गरीब लोगों को कम खर्चे में अच्छे घर उपलब्ध करा सके। मानसा कहती है कि अपनी पढ़ाई के समय में मानसा ने लोगों को स्टील की शीट, प्लास्टिक के कवर और बांस से बने अस्थायी घरों में रहते हुए देखा है, जिसमें सबसे अधिक संख्या प्रवासी मजदूरों के परिवारों की होती थी।

गर्मी के मौसम में झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले लोग अपने घर को खाली कर देते हैं, क्योंकि उनके पास गर्मी से बचने के लिए दूसरा कोई विकल्प मौजूद नही है। ये लोग ऐसे में सड़कों के किनारे और फ्लाईओवर के नीचे रहने के लिए मजबूर हैं।

बरसात के दिनों में निचले इलाकों में पानी भर जाता है और बीमारी फैलाने वाले मच्छरो व अन्य कीड़ों मकौड़ों की संख्या में बढ़ोतरी हो जाती है, जिस वजह से ऐसे इलाकों में बने अस्थायी घरों में रहना अशम्भव हो जाता है। ऐसे हालातों में इन इलाकों मे रहने वाले लोगों को साल के साल अपना घर बदलते रहना पड़ता है।

लॉकडा*उन खत्म होने के बाद शुरू किया था स्टार्टअप

पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.
पाइप से बनाया शानदार घर, आज के समय मे सबसे सस्ता घर, मिल चुके है अब तक 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर.

साल 2020 था जब मानसा ने सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की, इसके बाद जब लॉकडाउन हटाया गया तो मानसा ने अपना व्यवसाय शुरू कर दिया। उन्होंने तेलंगाना शहर में स्थित सीवेज पाइप मैन्युफैक्चर्र से संपर्क किया और अपनी जरूरत के अनुसार पाइप मंगवा लिये।

हालांकि इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में एक कंपनी ने भी मानसा की मदद की थी, जिसकी वजह से उन्हें सीवेज पाइपों को आपस में जोड़ने और एक बड़े आकार का घर बनाने में सहायता मिली। सीवेज पाइप भले ही आकार में गोल होते हैं, लेकिन उनकी ऊंचाई इतनी होती है कि एक लंबा आदमी उसमें आसानी से खड़ा होकर घूम सकता है।

मानसा रेड्डी ने OPod Tube House को गर्मी की परेशानी से निपटने के लिए उसे वाइट रंग से पेंट किया है, ताकि बढ़ते हुए तापमान में भी घर अंदर से ठंडा रखा जा सके। इसके साथ ही इस सीवेज हाउस में दरवाजे, खिड़की, बाथरूम, कीचन, पाइप लाइन और बिजली की सुविधा भी मौजूद है।

इस घर की लंबाई 16 फुट के आसपास है,और ऊंचाई 7 फुट है जिसमे एक स्वस्थ लम्बा आदमी भी आराम से खड़ा हो सकता है । इसमें छोटा-सा लिविंग रूप, एक बेडरूम, बाथरूम और कीचन भी अटैच है, जो एक छोटे से परिवार के गुजर बसर करने लिए काफी अच्छा व सहज है।

अब तक मिल चुके है कंपनी को 200 से अधिक घर बनाने के आर्डर

पेराला मानसा रेड्डी (Perala Manasa Reddy) द्वारा बनाए गए OPod Tube House की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वा*यरल होने साथ – साथ काफी सुर्खियां बटोर रही हैं, यही वजह है कि, अब तक उनकी कंपनी को 200 से ज्यादा नए घर बनाने का आर्डर भी मिल चुका है। बहरहाल, इस घर की टेस्टिंग के लिए मानसा ने एक प्रवासी मजदूर को वहाँ 7 दिन रहने के लिए कहा है, ताकि किसी तरह की कोई छोटी – मोटी कमी होने पर उस कमी ठीक किया जा सके।

About the Author: goanworld11

Indian blogger

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.