दहेज के 4 करोड़ ठुकरा कर दूल्हे ने स्वीकार किए सिर्फ शगुन के 1 रुपए, कहा दुल्हन ही सबसे बड़ा धन

किसी भी लड़की के माता-पिता के लिए उस लड़की की शादी करवाना एक बहुत बड़ी चुनौती होता है। क्योंकि आज के समय में कई ऐसे लोग हैं जो दहेज में लड़की के माता-पिता से करोड़ों रु*पए की मांग करते हैं। इसलिए अपनी बेटी की शादी अच्छे घर में करवाने के चक्कर में माता-पिता कर्ज लेकर दहेज देते हैं और जिंदगी भर उस कर्ज के बोझ के तले दबे रहते हैं। आए दिन समाज में ऐसी घटनाएं देखी जाती है जिसमें दहेज को लेकर किसी ना किसी लड़की को उसके ससुराल की ओर से प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है लेकिन हरियाणा में एक ऐसी घटना हुई जो सच में एक मिसाल बन गई।

दहेज के 4 करोड़ ठुकरा कर दूल्हे ने स्वीकार किए सिर्फ शगुन के 1 रुपए, कहा दुल्हन ही सबसे बड़ा धन
दहेज के 4 करोड़ ठुकरा कर दूल्हे ने स्वीकार किए सिर्फ शगुन के 1 रुपए, कहा दुल्हन ही सबसे बड़ा धन

धूमधाम से संपन्न हुई शादी

हरियाणा के आदमपुर में एक ऐसी अनोखी शादी हुई जिसकी सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है और इस शादी के बाद लोग उस दूल्हे की काफी प्रशंसा कर रहे हैं। हरियाणा के आदमपुर में बालेंद्र नाम के एक युवक की शादी धूमधाम से संपन्न हुई। शादी में बालेंद्र के सभी दोस्त और रिश्तेदार शामिल हुए थे।

शादी होने के बाद दुल्हन के माता-पिता ने दहेज की जो राशि दूल्हे वालों को देने का निश्चय किया था वह राशि लेकर जब दुल्हन के माता-पिता सामने आए तो दूल्हे ने उन्हें रोक दिया। दूल्हे के ऐसा करते ही दुल्हन के माता-पिता थोड़े से हम गए। क्योंकि उन्हें लगा कि शायद दूल्हा और ज्यादा पैसों की मांग करेगा।

दहेज के 4 करोड़ ठुकरा कर दूल्हे ने स्वीकार किए सिर्फ शगुन के 1 रुपए, कहा दुल्हन ही सबसे बड़ा धन
दहेज के 4 करोड़ ठुकरा कर दूल्हे ने स्वीकार किए सिर्फ शगुन के 1 रुपए, कहा दुल्हन ही सबसे बड़ा धन

दहेज के चार करोड़ लेने से दूल्हे ने किया इनकार

लेकिन इसका ठीक उलटा हुआ और दुल्हन के माता-पिता काफी हैरान रह गया। दुल्हन के माता-पिता ने दूल्हे को दहेज में देने के लिए 4 करोड़ रुप*ए लाए थे। लेकिन दहेज में इतनी बड़ी रकम मिलने के बावजूद भी दूल्हे बलेनो ने उस रकम को स्वीकार करने से मना कर दिया। जब सभी लोगों ने दूल्हे से कारण पूछा तो दूल्हे ने बताया कि उसके लिए उसकी दुल्हन ही सबसे बड़ी संपत्ति है। इसलिए वह दहेज की रकम को स्वीकार नहीं करना चाहता। इसके बाद दूल्हे ने केवल एक नारियल और शगुन का ₹1 लेकर दुल्हन को स्वीकार कर लिया।

दहेज के 4 करोड़ ठुकरा कर दूल्हे ने स्वीकार किए सिर्फ शगुन के 1 रुपए, कहा दुल्हन ही सबसे बड़ा धन

लोग कर रहे दूल्हे की तारीफ

इस घटना के बाद सभी लोग दूल्हे के द्वारा उठाए गए इस सराहनीय कदम की तारीफ करने लगे। शादी धूमधाम से संपन्न हुई और दूल्हा दुल्हन ने सभी मेहमानों का आशीर्वाद लिया। इसके बाद दुल्हन की विदाई हुई और दुल्हन अपने ससुराल चली गई। यह खबर जैसे ही सोशल मीडिया पर वाय*रल हुई तो लोग बालेंद्र की प्रशंसा करने लगे।

सचमुच आज के समय में जब लोग दहेज प्रथा के नाम पर दुल्हन के घर वालों का शोषण करने लगते हैं ऐसे में बालेंद्र के द्वारा उठाया गया यह सराहनीय कदम उन सभी लोगों के लिए एक प्रेरणादाई सबक साबित हो सकता है।

About the Author: Rani Patil

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.