ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने

 

इस जीवन मे पती पत्नी, दुख सुख के साथी होते है। और दोनो की समझ से ही जीवन सुचारू रूप से चलता है। इस बीच अगर दोनो में आपस मे सही सामजस्य हो तो जीवन और भी बेहतर हो जाता है। और जीवन मे आई कोई भी बाधा बिना परेशानी के पार हो जाती हैं।

ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने
ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने

ये चीज़ तब और भी महत्वपूर्ण हो जाती है जब लड़की अपना मायका छोड़ कर ससुराल में आती है। शादी के बाद अगर पति सही न हो तो लड़की की जिंदगी नर्क बन जाती है। ऐसी स्थिती में शादी के बाद पत्नी को उसके पति का सपोर्ट करना बहुत जरूरी है।

आईये आज हम आपको एक ऐसी कहानी के बारे में बताने जा रहे है जो एक ऐसे कपल से जुड़ी है। जिसमे, पति अपनी पत्नी को ऊंचाईयों की बुलंदियों पर ले जाने के लिए कोई कसर नही छोड़ रहा है।

माँ बनने के 20वे दिन ही बच्चे गोद मे लेकर एग्जाम देने गई महिला

ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने
ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने

शादी के बाद जब कोई लड़की माँ बनती है तो उसको अपने बच्चें को लेकर बहुत ध्यान रखना होता है। माँ बनने के बाद, बच्चे के 3 साल होने तक एक माँ को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन, मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के आंतरी गाँव मे रहने वाली प्रियंका बघेल की कहानी बहुत अलग है। क्योंकि वह नवजात बच्चे को लेकर पेपर देने पहुँची थी। और ये बच्चा 20 दिन का है जिसे लेकर प्रियंका परीक्षा देने पहुँची।

दरअसल, प्रियंका बघेल डॉक्टर बनने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रही है। और इस समय वो 12वी कक्षा में पढ़ रही है। ऐसे में परीक्षा के 20 दिन पहले ही प्रियंका माँ बनी है। प्रियंका ने इस हालात में भी परीक्षा छोड़ना सही नही समझा, और 20 दिन के बच्चे को गोद मे लेकर परीक्षा देने पहुंच गई।

पति कर है पूरा सपोर्ट

पत्नी के डॉक्टर बनने के सपने को साकार करने में लिए पति उन्हें हिम्मत देने के साथ साथ, पूर्ण समथर्न कर रहे है। दुख सुख के समय मे वो अपनी पत्नी के साथ खड़े है और वही प्रियंका को लेकर ग्वालियर लेकर पहुंचे थे। उनके गाँव से ग्वालियर की दूर 60 किलोमीटर के आसपास है। प्रियंका के पति पेशे से एक ड्राइवर है। ड्राइविंग करके ही वो अपने घर का पालन पोषण करते है।

शादी के बाद प्रियंका ने पति के सामने पढ़ने की इच्छा की थी ज़ाहिर

ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने
ड्राइवर अपनी पत्नी को बनाना चाहता है डॉक्टर, पत्नी गोद मे 20 दिन के बच्चे को लेकर आई एग्जाम देने

प्रियंका दूल्हन बनकर जब पति खेरसिंह के घर पहुंची तो उन्होंने अपने पति को बताया कि वो आगे पढ़ना चाहती है। इस बीच पति खैर सिंह ने बिना किसी परेशानी के प्रियंका को पढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। प्रियंका जब 20 दिन बच्चे को लेकर परीक्षा देने पहुंची तो उनके पति भी उनके साथ मौजूद थे। जब, एग्जाम हॉल में प्रियंका परीक्षा दे रही थी तो खैर बाहर खड़े होकर उनकी प्रतीक्षा कर रहे थे।

पति ने ही करवाया था दाखिला

प्रियंका बघेल शूरू से ही पढ़ना चाहती थी। लेकिन उनके घर की स्थिती इतनी बेहतर नही है जो प्रियंका को आगे पढ़ाने में वो उनकी मदद कर सके। इस बीच, प्रियंका के घरवालों ने दिसंबर 2020 में प्रियंका की शादी करदी और वो आंतरी गांव आगई। शादी के बाद पति खैर सिंह के सामने प्रियंका ने आगे पढ़ने की इच्छा रखी। और इसके बाद, पति खैर सिंह ने प्रियंका का एडमिशन कराने के लिए 12वी का प्राइवेट फॉर्म भरवा दिया।

About the Author: goanworld11

Indian blogger

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published.