आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट

```

आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट

राजस्थान राज्य की निवासी आईपीएस अधिकारी सरोज कुमारी के घर खुशि का माहौल है हो भी क्यो न हो आईपीएस सरोज कुमारी ने हाल ही के दिनों में 2 जुड़वा बच्चों को जन्म दिया है।
ज्यादातर उनकी तस्वीरे सोशल मीडिया पर आईपीएस की वर्दी में देखी जाती है।

```
आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट
आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट

लेकिन अब वो जब मां बनी है तो उन्होंने अपने गांव की संस्कृति को जीवित रखा है। उनकी एक तस्वीर आजकल सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। इस वायरल हुई तस्वीर में सरोज ने ग्रामीण महिलाओं की तरह लहंगा चुनरी पहनी है, और इस दौरान वो अपने दोनो जुड़वा बच्चों गौद में खिलाते हुए नजर आ रही है।सरोज एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है। उनके पिता आर्मी में हवलदार पद से रिटायर हुए थे।

रिटायर होने के बाद सरोज के परिवार में मात्र उनके पिता की पेंशन ही एकमात्र घर का खर्चा उठाने का जरिया थी, बावजूद इसके सरोज के पिता के उनकी पढ़ाई में किसी तरह की कोई कसर नही छोड़ी, और सरोज भी अपने पिता की उम्मीदों ओर खरी उतरी और अपने पिता को कभी निराश नही होने दिया।

आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट
आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट

सोशल मीडिया पर अपने दोनो जुड़वा बच्चों की तस्वीर शेयर करते हुए सरोज ने कैप्शन में लिखा कि, “भगवान ने उन्हें आशीर्वाद के रूप में एक बेटा और एक बेटी दिए है” सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस तस्वीर को साधारण वेशभूषा की कारण जमकर शेयर किया जा रहा है।

आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट
आईपीएस सरोज कुमारी बनी दो जुड़वा बच्चों की मां,अपने गांव की वेशभूषा में डाली सोशल मीडिया पर पोस्ट

और यूजर्स उनको इस पोस्ट पर जमकर बधाई संदेश भी दे रहे है।आपको बता दे कि आईपीएस अधिकारी सरोज की शादी 2019 में मनीष सैनी के साथ दिल्ली में हुई थी।अब दोनो पति पत्नी दोनो का दोहरी खुशि होने के कारण खुशि का कोई ठिकाना नही है।

Leave a Comment